ब्याज दरों में कमी का फायदा ग्राहकों तक पहुंचना अहम, इस बारे में बैंकों से चर्चा करेंगे: आरबीआई

रिजर्व बैंक (आरबीआई) के केंद्रीय बोर्ड की सोमवार को बैठक हुई। मीटिंग के बाद आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत ने कहा कि आरबीआई के ब्याज दरों में कटौती करने के बाद ग्राहकों तक इसका फायदा पहुंचना अहम बात है। इस मुद्दे पर निजी और सरकारी बैंकों के साथ 21 फरवरी को मीटिंग की जाएगी।

आरबीआई ने 0.25% घटाया था रेपो रेट

  1. आरबीआई ने 7 फरवरी को मौद्रिक नीति की समीक्षा में रेपो रेट में 0.25% कमी की थी। इसके बाद प्रमुख बैंकों में से सिर्फ एसबीआई ने होम लोन पर ब्याज दर में सिर्फ 0.05% कटौती की है।
  2. सोमवार को आरबीआई की बोर्ड बैठक में वित्त मंत्री अरुण जेटली भी शामिल हुए। उन्होंने अंतरिम बजट के अहम बिंदुओं को बारे में आरबीआई बोर्ड से चर्चा की। बजट के बाद वित्त मंत्री द्वारा आरबीआई बोर्ड को संबोधित करने की परंपरा रही है। बैठक के बाद बैंकों के मर्जर के मुद्दे पर जेटली ने कहा कि देश को कम लेकिन बड़े और मजबूत बैंकों की जरूरत है।
  3. रिजर्व बैंक से मिलने वाले डिविडेंड पर जेटली ने कहा कि आरबीआई स्वतंत्र रूप से इसका फैसला लेती है। बोर्ड बैठक में इस बारे में कुछ अलग से चर्चा नहीं हुई। आरबीआई गवर्नर ने कहा कि डिविडेंड पर बिमल जालान कमेटी की रिपोर्ट आनी बाकी है।
  4. ऐसे कयास लगाए जा रहे थे कि वित्त मंत्री के साथ आरबीआई बोर्ड की बैठक के दौरान सरकार को दिए जाने वाले डिविडेंड पर भी फैसला हो सकता है।